437 मतगणना कर्मियों की हुई दूसरी रैंडमाइजेशन

शिमला, 6 दिसंबरः आठ दिसंबर को होने वाली मतगणना से पूर्व आज सामान्य पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में मतगणना कर्मियों की दूसरी रैंडमाइजेशन हुई। रैंडमाइजेशन में पर्यवेक्षक पंधारी यादव, भावना गर्ग, मंजू शाह मिसकर, बाहू साहेब डंगाधर तथा महेंद्र कुमार खिंची के साथ-साथ उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी तथा एडीसी शिवम प्रताप सिंह उपस्थित रहे।
इस बारे जानकारी देते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि जिला शिमला के आठ विस क्षेत्रों के लिए कुल 437 मतगणना कर्मियों की दूसरी रैंडमाइजेशन हुई, जिनमें से 387 कर्मचारियों को संबंधित रिटर्निंग अधिकारी के समक्ष 7 दिसंबर को उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं, जबकि 50 कर्मियों को रिजर्व में रखा गया है। उन्होंने बताया कि विस क्षेत्र चौपाल में 36, ठियोग में 51, कसुम्पटी में 60, शिमला में 45, शिमला ग्रामीण में 36, जुब्बल कोटखाई में 48, रामपुर में 66 तथा रोहड़ू में 51 मतगणना कर्मियों को तैनात किया गया है।
उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि शिमला ग्रामीण, शिमला शहरी तथा कसुम्पटी विस क्षेत्र के लिए तैनात किए गए मतगणना कर्मियों का पूर्वाभ्यास आज राजकीय महाविद्यालय संजौली में करवाया गया, जबकि अन्य विस क्षेत्रों में भी निश्चित स्थानों पर कर्मचारियों की रिहर्सल करवाई गई है। उन्होंने कहा कि मतगणना कर्मियों का तीसरा पूर्वाभ्यास बुधवार को दोपहर 12 बजे करवाया जाएगा तथा 8 दिसंबर को प्रातः 5 बजे उन्हें टेबल आबंटित कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मतगणना के कार्य में तैनात किए गए मतगणना पर्यवेक्षकों, मतगणना सहायकों तथा माइक्रो ऑब्जर्वरों की पहली रिहर्सल 3 दिसंबर को करवाई गई थी।
आदित्य नेगी ने कहा कि मतगणना के लिए सभी तैयारियां समय सीमा के भीतर पूरी की जा रही हैं। डीसी ने कहा कि मतगणना स्थल पर अनाधिकृत व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित रहेगा तथा निर्वाचन विभाग से जारी ड्यूटी पास को प्रस्तुत करने पर ही एंट्री मिलेगी। मतगणना के दिन यानी 8 दिसंबर को मतगणना हॉल में मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाने पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। कोई भी कर्मचारी, पार्टी का उम्मीदवार या  एजेंट आदि मतगणना हॉल में अपने साथ मोबाइल फोन या अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं ले जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि मतों की गिनती का कार्य 8 दिसंबर को प्रातः 8 बजे

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?