मतगणना टेबल निर्धारित किए

शिमला 05 दिसम्बर
जिला उप-निर्वाचन अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त शिमला शिवम प्रताप सिंह ने आज यहां अपने कार्यालय कक्ष में 08 दिसम्बर, 2022 को मतगणना के संदर्भ में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की बैठक ली।
उन्होंने बताया कि 60-चौपाल विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौपाल में होगी तथा ईवीएम के लिए 08 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं। 61-ठियोग विधानसभा क्षेत्र की मतगणना आईटीआई जैस, ठियोग में होगी तथा ईवीएम के लिए 12 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं। 62-कुसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला छोटा शिमला में होगी तथा ईवीएम के लिए 14 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं।
उन्होंने बताया कि 63-शिमला शहरी विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (कन्या) पोर्टमोर में होगी तथा ईवीएम के लिए 10 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं। 64-शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय महाविद्यालय संजौली में होगी तथा ईवीएम के लिए 08 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं। 65-जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र) जुब्बल में होगी तथा ईवीएम के लिए 11 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं।
उन्होंने बताया कि 66-रामपुर विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय पदम वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रामपुर में होगी तथा ईवीएम के लिए 14 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं। 67-रोहडू विधानसभा क्षेत्र की मतगणना राजकीय बहुतकनीकी संस्थान रोहडू में होगी तथा ईवीएम के लिए 12 मतगणना टेबल निर्धारित किए गए हैं।
उन्होंने बताया कि मतगणना के संदर्भ में कर्मियों के लिए अंतिम प्रशिक्षण 07 दिसम्बर, 2022 को आयोजित किया जाएगा और इस प्रशिक्षण में केवल ट्रेनिंग ईवीएम का प्रयोग किया जाएगा।
शिवम प्रताप सिंह ने बताया कि संबंधित राजनीतिक दलों के प्रत्याशी काउंटिंग एजेंट के संबंध में संबंधित रिटर्निंग अधिकारी को फॉर्म 18 पर आवेदन कर सकते हैं तथा मतगणना केन्द्र में प्रातः 7 बजे तक ही प्रवेश कर सकते हैं और उसके उपरांत प्रवेश निषेध है।
उन्होंने बताया कि नाश्ते का समय प्रातः 6 बजे से 7 बजे तक निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि मतगणना केन्द्र के बाहर त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था होगी और 100 मीटर के दायरे में वाहनों का प्रवेश निषेध होगा।
उन्होंने बताया कि मतगणना केन्द्र में राजनीतिक दलों के काउंटिंग एजेंटों को पहचान पत्र लगाना अनिवार्य होगा और वे निर्धारित मतगणना टेबलों पर बैठेंगे। उन्होंने बताया कि मतगणना प्रातः 8 बजे से आरम्भ होगी तथा मतगणना प्रक्रिया में पारदर्शिता एवं निष्पक्षता बरती जाएगी और मतगणना की शुरुआत पोस्टल बैलेट से होगी।
इस अवसर पर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, तहसीलदार निर्वाचन राजेन्द्र शर्मा, नायब तहसीलदार निर्वाचन रत्नजीत सिंह और अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?