सहयोग से ही क्षय रोग पर पाया जा सकता है नियंत्रण – कृतिका कुलहरी


सोलन :- ज़िला क्षय रोग निवारण समिति की बैठक उपायुक्त कार्यालय सोलन के सभागार में उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी की अध्यक्षता में आयोजित हुई।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत देश को वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त करने का लक्ष्य रखा है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के उद्देश्य से ज़िला में “निक्षय पोषण योजना” की शुरुआत की गई है। योजना के अंतर्गत देश के जितने भी क्षय रोग से ग्रस्त मरीज हैं, उन्हें केंद्र सरकार द्वारा इलाज के लिए प्रति महिना 500 रुपये की आर्थिक सहायता दी जा रही है।
उन्होंने कहा कि ज़िला को क्षय रोग मुक्त करने के लिए निक्षयमित्र योजना चलाई जा रही है जिसके तहत रोगियों को निक्षयमित्रों द्वारा लगभग 800 रुपये की लागत की पोषण किट वितरित की जाती है। उन्होंने कहा कि ज़िला में इस योजना के तहत 60 क्षय रोग मरीजों को यह किट प्रदान की जा चुकी है।
उपायुक्त ने सभी विभागों से आग्रह किया कि विभाग से एक अधिकारी अथवा कर्मचारी निक्षयमित्र बनें ताकि ज़िला के क्षय रोगियों को निक्षयमित्रों द्वारा सहायता प्रदान की जा सके। निक्षयमित्र बनने के लिए ज़िला का कोई भी नागरिक स्वास्थ्य विभाग से सम्पर्क कर सकता है। उन्होंने कहा कि सभी के सक्रिय सहयोग से ही क्षय रोग पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।
उन्होंने कहा कि टीबी के उन्मुलन के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर क्षय रोग के बारे में लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि ज़िला में क्षय रोग सेे निपटने के लिए आयुष विभाग के 60 डाॅक्टरों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है ताकि क्षय रोग मरीजों को बेहतर ईलाज मिल सके। उन्होंने कहा कि मरीज आयुर्वेदिक अस्पताल से भी अपनी दवाईयों प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?