मजदूर से भी कम प्रोत्साहन राशि देगी सरकार…..

शिमला : 8 मई 2021, हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी ने कहा कि जहां एक तरफ कोरोना से जंग में सबसे ज्यादा खतरा अगर किसी की जान को है तो वो है कोरोना के फ्रंट लाइन वररियर्स जिसमे मेडिकल स्टाफ सबसे आगे रहता है। हिमाचल सरकार ने कोरोना से प्रथम पंक्ति में लड़ाई लड़ने के लिए MBBS डॉक्टर्स, नर्सो और अन्य लैब स्टाफ की नियुक्ति की है और प्रोत्साहन राशि भी उन्हें देना तय किया है!

नेगी ने कहा कि हिमाचल की भाजपा सरकार इन योद्धाओं के साथ बहुत बेहुदा मज़ाक कर रही है, चौथे और पांचवे सेमेस्टर के MBBS डॉक्टर को 100 रुपये प्रतिदिन नर्सिंग स्टाफ को 50 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से प्रोत्साहन राशि सरकार ने देने का निर्णय किया जो अकुशल श्रमिकों (unskilled labour) से भी बहुत कम है।

उन्होंने ने कहा कि हमारे पड़ोसी राज्य जम्मू कश्मीर में कोरोना से लड़ने के लिए नियुक्त किये गए डॉक्टर्स को 10000 रुपये प्रति माह, नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ को 7000 प्रति माह और ड्राइवर और स्वीपर को 5000 रुपये प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि देने का फैसला किया गया है लेकिन हिमाचल सरकार अपने हर फैसले सरकारी कर्मचारियों और आम लोगों के विरुद्ध ले रही है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?