आधुनिक प्रौद्योगिकी का हो अधिक उपयोगः किरन भड़ाना


ऽ सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की प्रथम महिला निदेशक ने की विभागीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता
सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की प्रथम महिला निदेशक किरन भड़ाना की अध्यक्षता मंे आज यहां विभागीय समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक मंे वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों सहित सभी जिला लोक सम्पर्क अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक को सम्बोधित करते हुए उन्हांेने कहा कि सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग सरकार की जन कल्याणकारी योजनाआंे एवं कार्यक्रमों को आम जनता तक पहुंचाने मंे अपनी सार्थक भूमिका निभा रहा है। सरकार की कार्य प्रणाली के प्रति लोगांे की भावनाओं एवं आकांक्षाओं को प्रदेश सरकार तक पहुंचाने मंे विभाग एक सेतु के रूप मंे कार्य करता है। उन्होंने कहा कि इसमें विभिन्न मीडिया माध्यमों का उल्लेखनीय योगदान रहता है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों का आह्वान किया कि मीडिया प्रतिष्ठानों एवं प्रतिनिधियों के साथ सौहार्दपूर्ण सम्बन्ध स्थापित करने पर और अधिक बल दिया जाना चाहिए।
किरन भड़ाना ने कहा कि बदलते परिदृश्य के साथ इलैक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट सहित विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों से सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए अधिकारी नवोन्मेषी विचारों का समावेश करें। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से जारी होने वाली सूचना को और अधिक प्रभावी बनाने की दिशा में भी कार्य किया जाना चाहिए। उन्होंने पारंपरिक माध्यमों के अतिरिक्त वेब आधारित मीडिया माध्यमों पर रियल टाईम में सूचनाएं सम्प्रेषित करने की दिशा में कार्य करने के भी निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि विभागीय कार्यप्रणाली को और चुस्त-दुरूस्त करने एवं इसमें सूचना प्रौद्योगिकी तकनीकों के अधिक से अधिक उपयोग पर बल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण एवं ओरिएंटेशन कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे ताकि वे मीडिया के अत्याधुनिक साधनों के बारे में पारंगत हो सकें।
बैठक में वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से बहुमूल्य सुझाव भी दिए गए।
इस अवसर पर अतिरिक्त निदेशक आरती गुप्ता, संयुक्त निदेशक प्रदीप कंवर एवं महेश पठानिया, उप निदेशक तकनीकी यू.सी. कौंडल, उप निदेशक हेमन्त वत्स सहित सभी जिलों के जिला लोक सम्पर्क अधिकारी उपस्थित थे।

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?