June 25, 2022

पांच हजार औंस रेशम की जरूरत को पूरा करेगा थुनाग रेशम बीज उत्पादन केन्द्रः जय राम ठाकुर

Spread the love

मुख्यमंत्री ने थुनाग में प्रदेश के दूसरे रेशम बीज उत्पादन केन्द्र तथा हि.प्र. भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के उप-कार्यालय का शुभारम्भ किया

सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव के अन्तर्गत सांस्कृतिक प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मण्डी जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग में प्रदेश के दूसरे रेशम बीज उत्पादन केन्द्र का शुभारम्भ किया। यह केन्द्र हिमाचल प्रदेश में रेशम बीज उत्पादन की जरूरत को पूरा करने तथा रेशम कीट पालकों की आर्थिकी सुदृढ़ करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया है। उन्होंने सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव-2022 के अन्तर्गत सांस्कृतिक प्रतियोगिता के समापन समारोह की अध्यक्षता भी की।
इस अवसर पर एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में लगभग 12 हजार किसान रेशम उत्पादन से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 7500 औंस रेशम की जरूरत को पूरा करने के लिए राज्य के पहले रेशम बीज उत्पादन केन्द्र पालमपुर में 2500 औंस रेशम का उत्पादन किया जा रहा है। शेष 5000 औंस रेशम की जरूरत अब थुनाग रेशम बीज उत्पादन केन्द्र पूरा करेगा, जो इससे पूर्व आयात की जाती थी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बालीचौकी में 4.94 करोड़ रुपये की लागत से रेशम उद्यमिता विकास एवं नवोन्मेष केन्द्र का निर्माण कार्य अन्तिम चरण में है और यह उत्तरी भारत में अपनी तरह का पहला केन्द्र होगा। उन्होंने कहा कि सराज घाटी में रेशम उद्योग को बढ़ावा देने के लिए 2.5 करोड़ रुपये व्यय कर बागाचनौगी, सरोआ, धरोट, मुराह, ढीमकटारू में राजकीय रेशम केन्द्र का निर्माण कार्य पूरा होने वाला है। उन्होंने कहा कि घाटी मंे अनुसूचित जाति के 200 किसानों को रेशम कीट पालन गृह निर्माण के लिए डेढ़ लाख रुपये प्रति किसान की दर से तीन करोड़ रुपये तथा 200 किसानों को रेशम कीट पालन उपकरण के लिए 80 लाख रुपये की धनराशि उपलब्ध करवाई गई है। इसके अतिरिक्त इस वर्ग के 200 किसानों को शहतूत पौधारोपण के लिए 28 लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके अतिरिक्त सामान्य वर्ग के 700 किसानों को शहतूत पौधरोपण तथा रेशम कीट पालन सामग्री खरीदने के लिए 50 लाख रुपये उपलब्ध करवाए गए है। उन्होंने कहा कि इन गतिविधियों से प्रदेश में रेशम उद्योग को बढ़ावा मिलने के साथ ही स्वरोजगार के अवसर भी सृजित होंगे।
जय राम ठाकुर ने कहा कि युवाओं को खेलों एवं सांस्कृतिक गतिविधियों से जोड़ने के लिए सराज युवा खेल व संास्कृतिक उत्सव का आयोजन एक अच्छी पहल है। इस उत्सव में सराज घाटी की 1390 टीमों के माध्यम से 14000 ग्रामीण युवाओं को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक मंच उपलब्ध हुआ है। इससे खेल भावना को बढ़ावा मिला है और पारम्परिक खेलों तथा समृद्ध संस्कृति का प्रचार-प्रसार और सांस्कृतिक धरोहर का संरक्षण भी सुनिश्चिित हुआ है। उन्होंने कहा कि इस आयोजन से आपसी भाईचारे, सहयोग और समन्वय की भावना को भी बढ़ावा मिला है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने थुनाग में एचडीएफसी बैंक की शाखा का भी शुभारम्भ किया जो प्रदेश में बैंक की 84वीं शाखा है। उन्होंने कहा कि यह बैंक शाखा खुलने से लघु और सीमांत किसानों को घर-द्वार पर ऋण सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लाभार्थियों के खाते में डाला जाता है और ऐसे में आम लोगों के लिए भी यह लाभदायी रहेगी। उन्होंने ग्रामीण व दूरदराज क्षेत्र में बैंक शाखा खोलने के एचडीएफसी बैंक प्रबन्धन की सराहना की तथा बैंक द्वारा संजीवनी संस्था के माध्यम से सेब उत्पादकों की आजीविका में वृद्धि करने के उद्देश्य से पौधरोपण परियोजना शुरू कर सराज खण्ड की 16 पंचायतों के 9185 किसान परिवारों को 85 हजार सेब के पौधे बांटने को प्रशंसनीय बताया।
मुख्यमंत्री ने वर्तमान सरकार के गत साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि इस दौरान प्रदेश में प्रत्येक वर्ग का सामाजिक-आर्थिक उत्थान सुनिश्चिित हुआ है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन, जनमंच, हिमकेयर, मुख्यमंत्री सहारा योजना, मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, शगुन योजना, मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना सहित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेशवासी लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं का भी सफलतापूर्वक कार्यान्वयन कर राज्य के लोगों को लाभ पहुंचाया है। वर्तमान सरकार के अभूतपूर्व प्रयासों से गांव-गांव तक सड़क सुविधा पहुंची है और पुलों तथा सड़कों के निर्माण से विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि ऊर्जा राज्य हिमाचल प्रदेश के लोगों को प्रदेश सरकार ने 125 यूनिट तक बिजली निःशुल्क उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सराज उत्सव के विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया। उन्होंने थुनाग में हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड उप-कार्यालय तथा भाजपा सराज मण्डल के कार्यालय मातृ आंचल का भी शुभारम्भ किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी एवं हिमाचल प्रदेश राज्य रेड क्रॉस अस्पताल कल्याण अनुभाग की अध्यक्षा डॉ. साधना ठाकुर, सराज भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष खेमदासी, भाजपा मण्डलाध्यक्ष भागीरथ शर्मा, जिला परिषद सदस्य रजनी ठाकुर, उपायुक्त अरिन्दम चौधरी, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
विजेताओं की सूची
सराज युवा खेल एवं सांस्कृतिक उत्सव-2022 के अन्तर्गत सांस्कृतिक गतिविधियों में खण्ड सराज स्तर पर पार्वती महिला मण्डल राहीधार तथा आशुतोष महिला मण्डल गुनाची उप-विजेता रहे।
इसके अतिरिक्त महिला मण्डलों में बालीचॉकी जोन से आशुतोष महिला मण्डल घुनाची विजेता और नई उमंग महिला मण्डल बालीचौकी व जय देवता भराड़ू महिला मण्डल भलयारी उप-विजेता, गाड़ागुशैणी जोन में महिला मण्डल रूततान विजेता व महिला मण्डल भनाड़ उप-विजेता, थाची जोन से नारी शक्ति महिला मण्डल नाचनी विजेता और नारी शक्ति महिला मण्डल खलवाण उप-विजेता, छतरी जोन से महिला मण्डल बगड़ा थाच विजेता और महिला मण्डल दिव्य ज्योती थाच उप-विजेता, बागा चनोगी जोन से महिला मण्डल कुलथनी विजेता और मॉं सरस्वती महिला मण्डल टील उप-विजेता, मझोठी जोन से पार्वती महिला मण्डल राहीधार विजेता और महिला मण्डल सरधार खनयारी उप-विजेता, जंजैहली जोन से महामाया महिला मण्डल तुंगाधार विजेता और महिला मण्डल शीला कोड उप-विजेता तथा थुनाग जोन से नव चेतना महिला मण्डल खमराड़ विजेता और महिला मण्डल थुनाग उप-विजेता रह