October 27, 2021

Himachalreport.com

in search of truth

रत्न सिंह पाल को जिताइए, अर्की का विकास करने में आनंद आएगा: जयराम ठाकुर

दाड़लाघाट।। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अर्की से बीजेपी प्रत्याशी रतन सिंह पाल के पक्ष में दाड़लाघाट में जनसभा को संबोधित किया। जयराम ठाकुर आज विपक्ष पर खूब हमलावर रहे। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर कई तीर साधे और कांग्रेस के स्टार प्रचारकों, खास तौर पर कन्हैया कुमार को आड़े हाथों लिया। जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस ने हिमाचल में उस व्यक्ति को स्टार प्रचाकर बनाया गया है जो सेना के जवानों को रेपिस्ट कहता है।

‘सिद्धू ने राहलु को पप्पू के नाम से किया प्रसिद्ध’
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा “ कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए स्टार प्रचारकों को दूसरे प्रदेशों से बुलाया है। उन्हें हिमाचल के नेताओं पर भरोसा ही नहीं है। कांग्रेस में भविष्य देख कर कन्हैया और सिद्धू उस पार्टी में गए थे, लेकिन कांग्रेस की हालत और खराब हो गई।”

जयराम ठाकुर ने कहा “जिस सिद्धू ने राहुल गांधी को पूरे देश में पप्पू नाम लेकर प्रसिद्ध किया, उसी पार्टी में वो चले गए और कांग्रेस ने भी उन्हें ले लिया। जिस पार्टी का देश में कुछ नहीं बचा, उसे बचाने के लिए वो कन्हैया आया है जिस पर ये कहने का आरोप लगा कि भारत तेरे टुकड़े होंगे।”

इसके बाद हिमाचल कांग्रेस के नेताओं पर निशाना साधते हुए सीएम ने कहा कि कांग्रेस की यही दशा हिमाचल में हो गई है, आज इन्हें मालूम ही नहीं कि इनका नेता कौन है। मंडी में नॉमिशनेशन के दौरान आपस ही ये लोग आगे होने के लिए एक-दूसरे को धक्का देते रहे। सीएम ने कहा कि हिमाचल के लोग देवतुल्य हैं, वे एक-दूसरे का सम्मान करते हैं। लेकिन कांग्रेस के नेताओं ने मुख्यमंत्री के गृह जिला में जाकर मुख्यमंत्री को ही गाली देने का काम किया।

दिवंगत नेताओं को मंच से दी श्रद्धांजलि
इससे पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंच से दिवंगत विधायकों और सांसद रामस्वरूप शर्मा को याद किया। जयराम ठाकुर ने कहा इस साल हमने बहुत से वरिष्ठ नेतृत्व को खोया। उन्होंने पूर्व सांसद स्वर्गीय पंडित रामस्वरूप शर्मा, जुब्बल कोटखाई से पूर्व विधायक नरेंद्र बरागटा, फतेहपुर से कांग्रेस विधायक रहे स्वर्गीय सुजान सिंह पठानिया और अर्की से विधायक रहे वीरभद्र सिंह को श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री ने कहा “वीरभद्र सिंह हिमाचल प्रदेश के वरिष्ठ नेता थे। वो मुख्यमंत्री, विपक्ष के नेता, केंद्रीय मंत्री और अन्य दायित्वों का निर्वहन कर इस मुकाम पर पहुंचे थे। पिछली बार वो अर्की से जीत कर विधानसभा पहुंचे। आज वो हमारे बीच में नहीं है। अर्की विधानसभा क्षेत्र में विकास के बहुत से काम करने की आवश्यकता है। वीरभद्र सिंह को यहां से विधायक बनने के बाद शायद यहां आने का कम ही वक्त मिल पाया। जिस तरह आप लोग उम्मीद करते थे, वो स्वास्थ्य के कारण आपके बीच नहीं आ सके।”

‘रतन सिंह पाल कम वोटों से हारे थे’
जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अर्की से बीजेपी प्रत्याशी रतन सिंह पाल की तारीफ भी की। उन्हों ने कहा, “रतन सिंह पाल यहां के लोगों के काम करवाने के लए सचिवालय में आकर कभी एक मंत्री के पास, कभी दूसरे मंत्री के पास जाते रहते हैं। हर समय वो यहां के लोगों के काम में लगे रहते हैं।

सीएम ने कहा कि लोगों को लगा होगा कि यदि सरकार बन गई तो मुख्यमंत्री अर्की से होंगे। इसलिए वीरभद्र सिंह को वोट दिए। इसके बावजूद रतन सिंह पाल मात्र छह हजार मतों से हारे। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह शायद ही अपने कार्यकाल में इतने कम मार्जन से जीते होंगे। रतन पाल सिंह चुनाव नहीं जीते, इसके बावजूद वो लोगों के बीच जाकर काम करते रहे।

मुख्यमंत्री ने गिनवाए अब तक के कार्य
जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सरकार के अब तक के कार्य और योजनाएं भी गिनवाईं। उन्होंने हिमकेयर, गृहिणी सुविधा योजना, शगुन योजना का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कोविड से लड़ने के लिए सरकार ने कितना काम किया उसका अंदाजा आप यहां से लगा सकते हैं कि पहले प्रदेश में दो ऑक्सीजन प्लांट हुआ करते थे। आज प्रदेश में 28 ऑक्सीजन के प्लांट हैं। आज 900 वेंटिलेटर प्रदेश में हैं पहले केवल 50 वेंटिलेटर थे।

एक साल में अर्की का कायाकल्प
सीएम ने कहा, कोविड के कारण हम आप लोगों के बीच नहीं आ सके तो वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन और शिलान्यास किए। उन्होंने कहा कि कोविड के बावजूद हमने यहां करोड़ों के उद्घाटन और शिलान्यास किए। यदि कोविड नहीं होता तो ये आकंड़ा कहीं ज्यादा होता।

जयराम ठाकुर ने कहा कि कुछ लोग प्रचार कर रहें हैं कि घोषणा हुई है काम नहीं हुए हैं। मैं गांव का आदमी हूं। मैंने जो बात कही है, चुनाव आचार संहिता खत्म होने के बाद वो तुरंत पूरी होगी। हिमाचल में हमने कहीं भी कुछ कहा है तो सब पूरा किया गया है। एक-एक वादा पूरा किया जाएगा। उस वादे को पूरा करने का आनंद तब आएगा जब यहां विधायक सरकार के साथ चलने वाला विधायक हो।