September 24, 2021

Himachalreport.com

in search of truth

7 अगस्त को गेयटी में आयोजित होगा हथकरघा दिवस

शिमला प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को मूर्त रुप देने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी कड़ी में 7 अगस्त 2021 को हथकरघा दिवस का आयोजन गेयटी थिएटर शिमला में किया जा रहा है। ये जानकारी आज राज्य रैड क्रोस सोसाइटी की अस्पताल कल्याण शाखा के अध्यक्ष डा0 साधना ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश हस्तशिल्प व हथकरघा विभाग की ओर से आयोजित गेयटी थिएटर में प्रदर्शनी का शुभारंभ करने के उपरांत अपने संबोधन में कहे।
उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्ता में आने के एक वर्ष बाद ही 7 अगस्त को हथकरघा दिवस के रुप में मनाने का निर्णय लिया क्योंकि वर्ष 1905 में इसी दिन कलकता टाउन हाल में स्वदेशी आंदोलन की शुरुआत बंगाल विभाजन के विरोध में की गई थी। प्रधानमंत्री द्वारा बुनकरों व हस्तशिल्पियों के सम्मान के लिए हथकरघा दिवस मनाने का निर्णय लिया तथा इस वर्ष 7वाँ हथकरघा दिवस मनाया जा रहा है।
डा0 साधना सिंह ने 3 अगस्त से 7 अगस्त तक चलने वाली प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए कहा कि कोविड के चलते कारीगरों के उत्पादों को बाजार में जगह नहीं मिल पाई तथा हम सबका दायित्व है कि हम कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए इस प्रदर्शनी में आकर कारीगरों का इस मुश्किल समय में मनोबल बढ़ाएं ताकि उन्हें सम्मानजनक रोजगार मिल सकें। उन्होनें निगम के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए स्थानीय लोगों व पर्यटकों से आग्रह किया कि इस आयोजन को सफल बनाने में अपना पूर्ण सहयोग करें।
हिमाचल प्रदेश हस्तशिल्प व हथकरघा निगम के प्रबन्ध निदेशक कुमुद सिंह ने अवगत करवाया की 7 अगस्त को होने वाले आयोजन की अध्यक्षता मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश जयराम ठाकुर द्वारा की जानी प्रस्तावित है। इस आयोजन में विभिन्न कार्यक्रमों के अतिरिक्त हथकरघा उत्पादों पर आधारित फैशन शो का आयोजन भी किया जा रहा है। इस फैशन शो का मुख्य उद्ेश्य युवाओं के बीच हथकरघा उत्पादों को प्रचलित बनाना है ताकि युवा अधिक से अधिक रुप में इसका प्रयोग करें और इसका परोक्ष लाभ बुनकरों को प्राप्त हो सके।
हिमाचल प्रदेश हस्तशिल्प व हथकरघा निगम के उपाध्यक्ष संजीव कटवाल ने डा0 साधना सिंह का इस प्रदर्शनी का शुभारंभ करने के लिए धन्यवाद किया तथा बताया कि बुनकरों व हस्तशिल्पियों द्वारा तैयार उत्पादों को बाजार प्रदान करना सरकार की प्राथमिकता है जिस पर कार्य किया जा रहा है तथा इस मुश्किल समय में इन कामगारों को सुदृढ़ करने के लिए अत्यधिक प्रयास करने की जरुरत है।
इस अवसर पर महापौर शिमला सत्या कौंडल, हिमाचल प्रदेश हस्तशिल्प व हथकरघा निगम के महाप्रबंधक योगेश गुप्ता, मंडलाध्यक्ष राजेश शारदा, मंडल महामंत्री सुशील चैहान, जिला सचिव शिमला अजय शरना, महामंत्री महिला मोर्चा पिंकी गोयल, निदेशक वाईल्ड लाइफ बोर्ड आसीम आलुवालिया, जिला किसान मोर्चा अध्यक्ष संजीव चैहान, पूर्व पार्षद भारती सूद, पार्षद आशा शर्मा, डा0 किमी सूद, दीपक शर्मा, पूर्व पार्षद राजेश्वरी एवं अन्य पार्षद भी उपस्थित थे।

????????????????????????????????????