तकनीकी कर्मचारी संघ ने बोर्ड पर जड़े आरोप

तकनीकी कर्मचारी संघ ने आम जनमानस को सुचारू बिजली उपलब्ध करवानी है ।   इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष ने सभी कर्मचरियों से यह भी आग्रह किया है कि वह अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान स्वयं रखें शारिरिक दूरी के साथ मास्क व सेनेटाइजर का भी उपयोग करें क्योंकि बिजली बोर्ड प्रबंधन तो आजकल पूरी तरह से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में व्यस्त है किसी भी अधिकारी को जब भी किसी जरूरी समस्या के बारे में फोन करें तो आगे से यही जबाब मिलता है साहब वी सी में हैं यही नहीं मुख्यालय में भी संगठन के पदाधिकारियों को मिलने के लिए भी घंटों इंतजार करना पड़ता है बिजली बोर्ड में आज की तारीख में यह अजीब ही वातावरण का निर्माण हो गया है जो कि एक तानाशाही का प्रमाण है ।इसके साथ ही दोनों पदाधिकारियों ने बोर्ड प्रबंधन पर यह भी आरोप लगाया है कि बोर्ड मुख्यालय मैं तो थर्मल सकेनिग व अधिकारियों के मेजों में बड़े बड़े  शीशे लगाकर पूरी सुरक्षा के प्रबंध किए गए है  जबकि फ़ील्ड में  चाहे उप मंडल के दफ्तर हों या शिकायत कक्ष, 33 के वी स्टेशन वहां पर न कोई सेनेटाइजर न ही मास्क न ही कोई पी पी किट और  सील्ड हेलमेट की व्यवस्था है अगर स्थानीय अधिकारियों से बात करें तो वह बजट का रोना रोते हैं जबकि उनके अपने कार्यलयों में यह सारी की सारी व्यवस्था है उसका बजट  कहाँ से आ रहा है यह भी एक बड़ा प्रशन है ।  प्रदेश अध्यक्ष ने हिमाचल के माननीय मुख्यमंत्री व ऊर्जा मंत्री से यह आग्रह किया है , कि बिजली बोर्ड का कर्मचारी बहुत ही असुरक्षित वातावरण में दिन रात कार्य कर रहा है व भयभीत भी है फिर भी हम अपने सामाजिक दायित्व का निर्वाह कर अपना कार्य करने के लिये तत्पर हैं ।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?