गरजे जयराम- हमारी नाटी देखने की आदत डाल ले कांग्रेस

आनी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कुल्लू जिले के आनी में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने आनी की जनता से मंडी संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को विजयी बनाकर दिल्ली भेजने की अपील की।

मुख्यमंत्री से पहले जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा कि मैं पहले भी आनी आ चुका हूँ। 2014 में भी आनी आ आया था मगर तब मौका स्व. रामस्वरूप शर्मा जी के चुनाव प्रचार का था। आज वो हमारे बीच नहीं हैं, उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं।

खुशाल ठाकुर ने कहा कि मेरी पृष्ठभूमि ग्रामीण क्षेत्र से है। मेरा जीवन देश सेवा में ही बीता है चाहे वो करगिल का युद्ध हो या फिर दक्षिण अफ्रीका में ऑपरेशन खुखरी। खुशाल ठाकुर ने कहा कि आज तक मुझे जो भी अवसर मिला है मैंने उसे ईमानदारी के साथ पूरा करने की कोशिश की है। अब मुझे राजनीति में अवसर मिला है, यहां भी योद्धा की तरह डटकर काम करूंगा।

उन्होंने कहा कि आज देश मजबूत नेतृत्व के हाथों में है। अगर आज सीमा पार से एक गोली आती है तो उसका जवाब गोले से दिया जाता है। सर्जिकल स्ट्राइक और गलवान घाटी में हमारे जवानों ने जो शौर्य दिखाया वो इसका एक उदाहरण है।

ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक मजबूत नेतृत्व के रूप में मौजूद हैं। कोरोना जैसे संकट काल में जिस तरह का कार्य इस नेतृत्व में हुआ है वो काबिले तारीफ है। यही कारण है कि कोरोना वैक्सीनेशन में हिमाचल पूरे देश में प्रथम स्थान पर रहा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “आनी हमारा पड़ोसी विधानसभा क्षेत्र है। आज एक पड़ोसी के नाते मैं आपके बीच में हूं। कुछ दिन पहले निरमंड में जब आना हुआ तो उस दिन हमने ऐतिहासिक 234 करोड़ के शिलान्यास व उद्घाटन किए। कुछ योजनाएं पूरी हो हो चुकी हैं और कुछ हम इस चुनाव के तुरंत बाद पूरी करेंगे।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि रामस्वरूप जी हमारे साथ नहीं है। उनकी कमी महसूस होती है। उनकी कमी को कैसे पूरा किया जाए इसके लिए एक ऐसा शख्स चाहिए था जो ईमानदार, शालीन, संस्कारी और कर्मठ हो और जब लड़ाई की बात आए तो लक्ष्य को निर्धारित कर आगे बढ़ने वाला हो। इसके लिए ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को चुना गया।

उन्होंने कहा कि खुशाल ठाकुर ने भारत में तो काम किया ही, श्रीलंका में भी काम किया और सफलता हासिल की। मुख्यमंत्री ने वीरभूमि का जिक्र करते हुए कहा, “हिमाचल भले ही छोटा प्रदेश है लेकिन आबादी के आधार पर अगर किसी प्रदेश ने कुर्बानियां दी हैं और पदक हासिल किए हैं तो हिमाचल उसमें पहले स्थान पर है।”

‘कांग्रेस को अभी पांच साल और देखनी होगी हमारी नाटी’
मुख्यमंत्री ने आनी की जनता को संबोधित करते हुए कहा, “इस बार आनी में काफी देर बाद आना हुआ। कोरोना भी इसकी एक वजह रही। क्योंकि जब हम आते हैं तो हमारे संस्कार हमारी संस्कृति लोग इकट्ठा होते हैं। कार्यक्रम होता है तो भीड़ भी हो जाती है और नाटी का फेरा भी हो जाता है। कोरोना की वजह से तो दो साल से नाटी तो खत्म सी हो गई है।”

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?