मंडी के भदरोता में पाॅलिटेक्निक काॅलेज खोलने की



मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी जिला में सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र में भदरोटा क्षेत्र के गौंटा में एक बड़ी जनसभा को संबोधित करते हुए उप-तहसील भदरोता में पाॅलिटेक्निक काॅलेज खोलने और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जमनी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मंे स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने उप-तहसील भदरोता के दोहपी में संयुक्त कार्यालय भवन खोलने और गौंटा (भदरोता) में हेलीपैड के निर्माण की घोषणा भी की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने विश्व की आर्थिकी पर विपरीत प्रभाव डाला है और हमारा देश एवं राज्य भी इससे अछूता नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समयबद्ध और दक्ष प्रयासों से कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने मंे मदद मिली। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस अवधि के दौरान प्रदेश के 42 से अधिक विधानसभा क्षेत्रों में वर्चुअल माध्यम से लगभग 4200 करोड़ रुपये लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए।
जय राम ठाकुर ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान राज्य के लाखों लोग देश के विभिन्न भागों में फंस गए थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लगभग 2.50 लाख प्रदेशवासियों को सुरक्षित उनके घरों तक वापिस लाया गया। उन्होंने कहा कि गोवा से विशेष रेल गाडि़यों और राजस्थान के कोटा से हिमाचल पथ परिवहन की 60 बसों के माध्यम से प्रदेश के हजारों युवाओं को वापिस लाया गया। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान विपक्ष के नेता इस संवेदनशील मामले का राजनीतिकरण करने में व्यस्त रहे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्य को 500 से अधिक वेंटिलेटर प्रदान किए ताकि रोगियों की बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर कांग्रेस नेताओं ने अपने केन्द्रीय नेतृत्व को राज्य के लोगों को मास्क और सेनिटाइजर प्रदान करने के 12 करोड़ रुपये के बिल भेजे जो कि फर्जी थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस माह की 31 तारीख तक वैक्सीनेशन की पहली खुराक की शत-प्रतिशत कवरेज का लक्ष्य निर्धारित किया है। उन्होंने राज्य के लोगों से इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए वैक्सीनेशन करने के लिए आगे आने का आग्रह किया।
इस अवसर पर विभिन्न व्यक्तियों और संस्थाओं ने मुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए चैक भेंट किए।
इससे पहले मुख्यमंत्री ने आज मंडी जिला के सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र के गौंटा मंे लगभग 40 करोड़ रुपये की लागत से विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र के बलद्वाड़ा में लगभग 100 करोड़ रुपये की लागत से विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास भी किए। उन्होंने सरकाघाट तहसील के तहत ग्राम पंचायत रोपड़ी चैक, परधा, हवाणी और जझैल के समूह गांवों के लिए जल जीवन मिशन के तहत 26.46 करोड़ रुपये की लागत से उठाऊ जलापूर्ति योजना और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 1.98 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित बागी खुडी खाहन चनौली सड़क का लोकार्पण किया। उन्होंने प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 6.33 करोड़ रुपये की लागत से होने वाले डबरेवाल जामनवाल बन मंगोह सड़क के मेटलिंग व टारिंग कार्य और नाबार्ड के तहत 4.58 करोड़ रुपये की लागत से महिला मंडल भवन कास डुमैहर पनियाली टकरेड़ सड़क का भूमि पूजन किया।
जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने तहसील सरकाघाट में जल जीवन मिशन के तहत ग्राम पंचायत रोपड़ी चैक, परधा, हवाणी और जझैल के समूह गांवों में 26.40 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना का लोकार्पण करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस योजना के माध्यम से क्षेत्र में पानी की समस्या का समाधान करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान सरकाघाट क्षेत्र में लगभग 488 करोड़ रुपये लागत की पेयजल और सिंचाई परियोजनाएं कार्यन्वित और स्वीकृत की गई हैं।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?