मौके पर ही स्वीकृत की एक लाख रुपये की राशि

द्रंग हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र के दौरे के दौरान मानवीय संवेदना का परिचय देते हुए आज मण्डी से द्रंग जाते समय रास्ते में मुख्यमंत्री से मिलने के लिए अपनी फरियाद लेकर खड़ी महिला की समस्या को मुख्यमंत्री ने अपना काफिला रोक कर सुना और मौके पर ही महिला की समस्या का समाधान करने के उद्देश्य से महिला की मदद हेतू एक लाख रुपये की राशि स्वीकृत की है।
द्रंग विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत टांडू के पाखरी गांव की विधवा महिला लक्ष्मी देवी अपनी समस्या लेकर सड़क किन्नारे खड़ी थी। मुख्यमंत्री को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने तुंरत अपना काफिला रोका और उसकी समस्या सुनी। गरीब महिला की फरियाद सुनकर मुख्यमंत्री इतने भावुक हो गए कि महिला के बेटे का स्वास्थ्य जानने के लिए अपने आप को महिला के घर जाने से नहीं रोक पाए।
महिला का बेटा सड़क दुर्घटना के कारण गत लगभग 22 वर्षों से कोमा में होने के कारण बिस्तर पर ही है। मुख्यमंत्री बिस्तर पर पड़े गरीब महिला के बेटे के स्वास्थ्य की स्थिति को देखकर इतने भावुक हुए कि उन्होंने त्वरित समाधान के रूप में मौके पर ही एक लाख रुपये उसके उपचार के लिए स्वीकृत कर दिए। मुख्यमंत्री ने मौके पर ही उपायुक्त मण्डी को निर्देश दिए की इस परिवार को सहारा योजना के अन्तर्गत लाया जाए ताकि परिवार को बेटे के उपचार के लिए 3000 रुपये राशि प्रतिमाह मदद के रूप में मिल सके।
द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर ने गरीब विधवा महिला के बेटे के उपचार के लिए मुख्यमंत्री द्वारा एक लाख रुपये की राशि स्वीकृत करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ग्रामीण पृष्ठभूमि से सम्बन्ध रखने के कारण आम लोगों के दुःख दर्द और उनकी समस्याओं को भली-भांति जानते, जिसका परिचय उन्होंने आज एक बार पुनः द्रंग विधानसभा क्षेत्र में दिया है।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?