August 18, 2022

प्राकृतिक खेती की आगामी रणनीति पर सचिवालय में हुआ मंथन

Spread the love

समीक्षा बैठक में अधिकारियों कृषि सचिव ने अधिकारियों को दिए निर्देश

राज्य सचिवालय शिमला में गुरूवार को कृषि सचिव राकेश कंवर की अध्यक्षता में प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में कृषि सचिव ने कहा कि पर्यावरण-हितैषी प्राकृतिक खेती तेजी से प्रदेश में बढ़ रही है। राज्य सरकार ने भी इस योजना को अपना महत्वपूर्ण कार्यक्रम बनाया है और इस वित्त वर्ष के लिए नए लक्ष्य तय किए हैं।    

उन्होंने बताया कि सरकार ने प्राकृतिक खेती के उत्पादों की बिक्री के लिए प्रदेशभर में 10 मंडियां चिन्हित की हैं जिनके माध्यम से किसान अपना उत्पाद बेच सकेगें। इससे उनकी बाजार को लेकर आ रही समस्याएं हल हो जाएंगी। प्राकृतिक खेती उत्पादों को बाजार में सही दाम दिलाने के लिए उनकी मार्केटिंग और ब्रांडिंग पर काम किया जा रहा है। प्रदेशभर में 1 लाख 71 हजार से ज्यादा किसान-बागवान सभी 4 कृषि जलवायु क्षेत्रों में फल व फसलों की इस विधि से खेती कर रहे हैं। विविध फसलों को मंडियों में स्थान उपलब्ध करवाने के अलावा राज्य सरकार आनलाइन तरीके से भी प्राकृतिक खेती के उत्पादों को बेचने पर विचार कर रही है। कई गैर-सरकारी संस्थाओं ने भी प्राकृतिक खेती से तैयार उत्पादों को खरीदने में रुचि दिखाई है।