May 18, 2022

मीडिया लिटरेसी ही फेक न्यूज का एक मात्र समाधान

Spread the love

जागो हिमाचल मंच द्वारा फेकन्यूज पर वेबिनार आयोजित किया गया। इस सेमिनार को गूगल न्यूज इनिशियेटिव, फेक्टशाला और डेटा लीड के सौजन्य से आयोजित किया गया। जिसकी मुख्य वक्ता मीडिया विशेषज्ञ एवं फेक्ट चेक ट्रेनर निधि शर्मा ने कहा कि आज सोशल मीडिया के माध्यम से कई भ्रम फैलाए जा रहे हैं। सिर्फ जागरुकता से ही ऐसे भ्रमों से बचा जा सकता है।
निधि ने बताया कि खबर पढ़ते समय सबसे पहले स्त्रोत या वेबसाइट की जांच करें। इसका उद्देश्य समझें और संपर्क की जानकारी प्राप्त करें। तभी समझ पाएंगे कि आप खबर पढ़ रहे हैं वो सही है या फेक। किसी भी लेख, फोटो और वीडियो की सत्यता को समझने के लिए उसमें कुछ खास चीजों की तलाश करनी चाहिए जिससे उसके सत्य या सत्य होने की पुष्टि की जा सके।उन्होंने सैशन के दौरान जागो हिमाचल के प्रतिनिधियों को फेकन्यूज को पहचानने के विभिन्न टूल्स एवं अवधारणाओं के बारे मेंं विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि गूगल ने किसी भी तस्वीरों को परखने-जांचने के लिए बहुत सारे टूल्स इजाद किए हैं। जैसे गूगल रिवर्स इमेज सर्च। इस गूगल रिवर्स इमेज सर्च टूल से गूगल डेटाबेस के जरिए किसी भी तस्वीर की असलियत का पता लगाया जा सकता है। लेकिन टूल्स से ज्यादा हमें तार्किक सोचा विकसित करनी चाहिए।
इस मौके पर जागो हिमाचल मंच के संयोजक एडवोकेट सुमन ठाकुर ने भी इस मुद्दे पर सभी को मिल कर काम करने का आह्वान किया।