June 25, 2022

मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय सुकेत देवता मेले का शुभारम्भ किया

Spread the love

59 करोड़ रुपये लागत की विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज राज्य स्तरीय सुकेत देवता मेला, सुन्दरनगर का जवाहर पार्क में शुभारम्भ किया। उन्होंने सुखदेव वाटिका से जवाहर पार्क, सुन्दरनगर तक निकाली गई शोभा यात्रा में भी भाग लिया।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सुन्दरनगर में 37 लाख रुपये की लागत से निर्मित महाराणा प्रताप स्मारक, 10 करोड़ 69 लाख रुपये की लागत से एमएलएसएम महाविद्यालय में क्लस्टर विश्वविद्यालय के भवन, 2 करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, छात्र के विज्ञान खण्ड, 5 करोड़ 70 लाख रुपये की लागत से राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सुन्दरनगर मंे दिव्यांग छात्रों के छात्रावास भवन तथा 8 करोड़ 11 लाख रुपये की लागत से सुन्दरनगर से पलाही वाया बीणा सड़क के सुधारीकरण का लोकार्पण किया। उन्होंने 31 करोड़ 79 लाख रुपये की जड़ोल-कांगू क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों के लिए पेयजल आपूर्ति योजना का शिलान्यास भी किया।
इस अवसर पर जवाहर पार्क में जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आयोजित होने वाले मेलों की समृद्ध परम्परा में रियासतकाल से मनाए जा रहे सुकेत देवता मेले का प्रमुख स्थान है। शुकदेव ऋषि की तपोस्थली में आयोजित होने वाला यह मेला देव आस्था एवं परम्परा का प्रमुख केन्द्र है। उन्होंने कहा कि मेले हमारी संस्कृति की पहचान हैं, जिसके संरक्षण एवं संवर्धन के लिए प्रदेश सरकार निरंतर प्रयासरत है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में आयोजित होने वाले जिला, राज्य, राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय स्तर के मेलों की अनुदान राशि में भी राज्य सरकार द्वारा ऐतिहासिक वृद्धि की गई है। जिला स्तर पर आयोजित होने वाले मेलों की अनुदान राशि 30 हजार रुपये से बढ़ाकर 50 हजार रुपये, राज्य स्तर के मेलों की अनुदान राशि एक लाख रुपये से बढ़ाकर डेढ लाख रुपये और राष्ट्रीय स्तर के मेलों की अनुदान राशि को दो लाख रुपये से बढ़ाकर तीन लाख रुपये तथा अन्तरराष्ट्रीय स्तर के मेलों की अनुदान राशि को तीन लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में सुन्दरनगर क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि निहरी एवं आस-पास के क्षेत्रों के लोगों की सुविधा के लिए 8 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय स्नातक महाविद्यालय के भवन के निर्माण के साथ-साथ निहरी में विकास खण्ड कार्यालय भी खोला गया है। उन्होंने कहा कि सुन्दरनगर शहर के लिए लगभग 23 करोड़ रुपये तथा डैहर व इसके साथ के क्षेत्रों के लिए 26 करोड़ रुपये की लागत से पेयजल योजनाओं का विकास कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि 12 करोड़ रुपये की लागत से सुन्दरनगर में मातृृ-शिशु स्वास्थ्य केन्द्र लोगों को समर्पित किया गया है जबकि 10 करोड़ 57 लाख रुपये की लागत से चतरोखड़ी में पार्किंग परिसर का निर्माण किया जा रहा है, जिससे स्थानीय लोगों की लम्बित मांग पूर्ण की गई है।
मुख्यमंत्री ने राजकीय उच्च विद्यालय मंझखेतर को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, राजकीय माध्यमिक विद्यालय चुरूढ़, बायला तथा पंजोलठ को राजकीय उच्च विद्यालय तथा राजकीय प्राथमिक विद्यालय गाहर को राजकीय माध्यमिक विद्यालय में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने गांव बंदली में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा गांव बीणा में उप-स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय आयुर्वेदिक अस्पताल पुराना बाजार को स्तरोन्नत कर 10 बिस्तर क्षमता का अस्पताल करने तथा नगर परिषद् सुन्दरनगर को कूड़ा-कर्कट के निष्पादन के लिए वाहन उपलब्ध करवाने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय प्रेसी तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय चाय का डोहरा में विज्ञान की कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा भी की।
सुन्दरनगर के विधायक राकेश जम्वाल ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा सुन्दरनगर क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में प्रदेश का सर्वागींण विकास सुनिश्चित हुआ है। सरकार का यह सेवाकाल सम्पूर्ण प्रदेश के अभूतपूर्व विकास का गवाह बना है। जन कल्याण को सर्वोच्च अधिमान देते हुए सरकार ने नई सोच और मजबूत इरादों के साथ अनेक महत्वकांक्षी योजनाएं व कार्यक्रम आरम्भ किए हैं, जिनका लाभ समाज के हर वर्ग तक पहुंचा है। उन्होंने सुन्दरनगर क्षेत्र में विभिन्न विकास कार्यों की भी विस्तृत जानकारी दी।
इस अवसर पर बल्ह के विधायक इन्द्र सिंह गांधी, नगर परिषद्, पंचायत समिति, सुकेत सर्व देवता समिति, भाजपा मण्डल के पदाधिकारी, वरिष्ठ अधिकारी और अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
.0.