अवैध शराब की नौ हजार पेटियां बरामद,

Spread the love

हिमाचल प्रदेश के राज्य कर व आबकारी विभाग द्वारा अवैध रूप से शराब बेचने वालों के विरुद्ध उपयुक्त कार्रवाई की जा रही है। विभाग के अधिकारियों द्वारा अलग-अलग दल गठित कर शराब की खुदरा बिक्री दुकानों व थोक बिक्री के गोदामों का निरीक्षण किया जा रहा है। यह कार्रवाई राज्य के सभी जिलों में जारी है।

आयुक्त राज्य कर एवं आबकारी यूनुस ने बताया कि दिनांक 24 व 25 जनवरी को जिला कांगड़ा की पालमपुर तहसील के राजपुर टांडा में अंग्रेजी शराब के थोक विक्रेता एल-1 के गोदाम का निरीक्षण किया गया, जिसमें लाइसेंसी द्वारा लाइसेंस में वर्णित शर्तों के अनुरूप रिकाॅर्ड नहीं रखा जा रहा था। निरीक्षण के दौरान अंग्रेजी शराब के स्टाॅक में अंतर पाया गया है। विभाग द्वारा इस संबंध में लाईसेंसी के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है।

इसके अतिरिक्त राजपुर टांडा में ही देसी शराब के थोक गोदाम एल-13 का भी निरीक्षण किया गया, जिसमें लगभग 7000 पेटियां अधिक पाई गई। ये पेटियां जोगिंदरनगर स्थित बाॅटलिंग प्लांट में निर्मित की गई थी। इस गोदाम को भी विभाग द्वारा सील कर उक्त लाइसेंसी के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।

उन्होंने कहा कि विभागीय दल द्वारा राजपुर टांडा में ही एक देसी शराब का अवैध गोदाम पकड़ा है। इसमें 1656 पेटी प्योर संतरा है, जो जोगिंदरनगर स्थित बाॅटलिंग प्लांट में निर्मित है। विभाग द्वारा इस सम्बन्ध में आबकारी अधिनियम की धारा 39 के अंतर्गत एफ.आई.आर दर्ज की गई है। इन दोनों मामलों में बिना एक्साइज ड्यूटी के भुगतान वाली देसी शराब पकड़ी गई है। 

यूनुस ने बताया कि 21 जनवरी, 2022 को हमीरपुर पुलिस द्वारा हमीरपुर के जिस होटल के कमरे से अवैध शराब वी.आर.वी फूल्स की 8 पेटियां पकड़ी गई थी, विभागीय अधिकारियों द्वारा आज उस होटल का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि लाइसेंसी द्वारा लाइसेंस में वर्णित शर्तों के अनुसार कार्य नहीं किया जा रहा है। अधिकारियों द्वारा होटल के बार में रखी विभिन्न ब्रांड की शराब का निरीक्षण किया और लाईसेंस के साथ मिलान किया। इसमें पाया गया कि बार में विभिन्न अंग्रेजी शराब के ब्रांड की 16 बोतलें नोट फाॅर सेल इन हिमाचल हंै। इसके अतिरिक्त 2000 मिलीलीटर की तीन बोतलें अलग-अलग ब्रांड की भी मिली हैं। विभाग द्वारा बार को सील कर लाइसेंस का भी निलंबन कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि टीम द्वारा जिला कांगड़ा के पालमपुर तहसील की खुदरा शराब की दुकानों का भी निरीक्षण किया जा रहा है। मंडी के जोगिंदरनगर स्थित गलु में बाॅटलिंग प्लांट का लाइसेंस निलंबित कर दिया गया है। इसमें दोषी अधिकारी के विरुद्ध भी कार्यवाही की गई है।

विभाग द्वारा अवैध शराब के कारोबारियों के विरुद्ध पूरी सख्ती से नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।