September 16, 2021

Himachalreport.com

in search of truth

भत्ते और शीतकालीन भत्ते को बढ़ाने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने शिमला से वर्चुअल माध्यम से क्षेत्र के लोगों को सम्बोधित करते हुए जनजातीय क्षेत्र में सेवाएं देने वाले कर्मचारियों के लिए जनजातीय भत्ता 450 रुपये से 650 रुपये और शीतकालीन भत्ते को 300 रुपये से 500 रुपये बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने कीमो में स्वास्थ्य उप केन्द्र खोलने, काजा में अग्निशमन उप-केन्द्र खोलने और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र काजा को नागरिक अस्पताल में स्तरोन्नत करने की घोषणा की।

जिला लाहौल स्पीति के काजा क्षेत्र के इतिहास में 27 जुलाई, 2021 एक यादगार दिन के रूप में स्मरण किया जाएगा, क्योंकि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज के दिन वुर्चअल माध्यम से काजा में जिला लाहौल स्पीति के लोगों के लिए लगभग 146 करोड़ रुपये की लागत की 19 विकासात्मक परियोजनाओं की शिमला से वर्चुअली आधारशिला रखी व लोकार्पण किए। वह खराब मौसम के कारण काजा का व्यक्तिगत दौरा नहीं कर पाए।
मुख्यमंत्री ने 14.52 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं का लोकार्पण किया। उन्होंने हुल में 48 लाख रुपये की लागत के हेलिपैड, ताबो में 74 लाख रुपये की लागत के संग्रहालय एवं पुस्तकालय, किब्बर में 80 लाख रुपये की लागत के सामुदायिक भवन, की में 1.86 करोड़ रुपये की लागत के संग्रहालय एवं पुस्तकालय, काजा में 1.82 करोड़ रुपये की उठाऊ जल आपूर्ति परियोजना के संवर्धन और ग्राम पंचायत काजा में शिल्ला नाला से 8.82 करोड़ रुपये लागत की सूक्ष्म सिंचाई योजना काजा का लोकार्पण किया।
जय राम ठाकुर ने 131.21 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशिला रखी। उन्होंने काजा में 34.57 करोड़ रुपये लागत के आइस हाॅकी रिंक, काजा में 12.18 करोड़ रुपये लागत के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अतिरिक्त भवन, शिल्ला में शिल्ला नाला के ऊपर 2.60 करोड़ रुपये लागत के 60 मीटर लम्बे स्टील ट्रस पुल, काजा में 8.69 करोड़ रुपये लागत के हाई एल्टीटयूड प्रशिक्षण केन्द्र, मुद में पिन नदी के ऊपर टेलिंग और मुद के बीच 3.23 करोड़ रुपये की लागत के 75 मीटर लम्बे वाहन योग्य स्टील ट्रस पुल और ताबो में 2.28 करोड़ रुपये की लागत के परिधि गृह का शिलान्यास किया। उन्होंने 1.54 करोड़ रुपये की लागत के कृषि विज्ञान केन्द्र ताबो के कार्यालय भवन, 21.17 करोड़ रुपये की लागत से काजा कोमिक सड़क का स्तरोन्यन और 37.44 करोड़ रुपये की लागत से स्पीति घाटी में मुद भावा सड़क की आधारशिला रखी।