October 27, 2021

Himachalreport.com

in search of truth

चिरानी को आजीवन कारावास की सजा

शिमला की जिला अदालत ने शुक्रवार को शिमला जिले के कोटखाई क्षेत्र के 16 वर्षीय नाबालिग से बलात्कार और हत्या के आरोपी 28 वर्षीय युवक नीलू  चिरानी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिमला और विशेष सीबीआई न्यायाधीश राजीव भारद्वाज ने  इस मामले में सजा का ऐलान किया ।अदालत ने आईपीसी की धारा 302 के तहत उम्रकैद और  10000 रुपये के जुर्माने और 376 ए के तहत मौत तक उम्रकैद की सजा सुनाई है।
सीबीआई के वकील अमित जिंदल ने कहा कि अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और 376 ए, में आजीवन कारावास यानी मृत्यु तक और 10 हजार रुपए जुर्माने के सजा का एलान हुआ वन्ही दोषी नीलू के वकील महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि वह मामले को लेकर 30 दिन के भीतर हाई कोर्ट में अपील करेंगे।वंही आरोपी नीलू ने खुद को निर्दोष करार देते हुए सीबीआई द्वारा उसे इस केस में फ़साने का आरोप लगाया सीबीआई ने 13 अप्रैल, 2018 को अनिल 28 वर्षीय (नीलू) आरोपी को गिरफ्तार किया था और मई 2018 में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा आरोप पत्र दायर किया गया था। उसे आईपीसी की धारा 376 ए, 376i2, 302 और पोक्सो अधिनियम की धारा 4 के तहत दोषी ठहराया गया था। 59 गवाहों के गवाह बनने के बाद 28 अप्रैल,2021 को दोषी ठहराया गया था और उन्हें दोषी ठहराया गया था।अब दोषियों के वकील ने कहा कि वे ट्रायल के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देंगे क्योंकि केस के गुण दोषसिद्धि और सजा के योग्य नहीं हैं