September 16, 2021

Himachalreport.com

in search of truth

दिवंगत शास्त्री अध्यापक के परिवार को दी 2 लाख 5 हजार रूपए की सहायता

कांगड़ा: राजकीय उच्च विद्यालय बोड़ा , भवारना में बतौर शास्त्री सेवाएं दे रहे अध्यापक शिव शरण का 2 मई को कोरोना की बजह से देहांत हो गया जिनकी उम्र 35 साल थी , नई पेंशन स्कीम कर्मचारी एसोसिएशन के कांगड़ा जिला प्रधान राजिन्दर मन्हास और एसोसिएशन के भवारना ब्लॉक प्रधान कुलदीप चंद ने परिवार की माली खराबी हालत को देखते हुए 3 मई को दिवंगत कर्मचारी के बैंक एकाउंट में अनुदान की अपील की थी इस आशय की जानकारी देते हुए कांगड़ा जिला प्रधान ने बताया कि जैसे ही एसोसिएशन के कांगड़ा के 40 व्हाट्स एप्प ग्रुप में अनुदान संदेश शेयर किया गया महज एक दिन में कर्मचारियों ने एक लाख का अनुदान दिवंगत अध्यापक के बैंक एकाउंट में कर दिया और उससे अगले दिन इस अनुदान की राशि 2.5 लाख हो गई ब्लॉक प्रधान कुलदीप चंद ने बताया शिव शरण की नियमित नौकरी 4 साल हुई थी 7 साल बह अनुबंध पर रहे और एनपीएस कर्मचारी होने के नाते अब परिवार को पेंशन का लाभ भी नही मिलेगा उन्होंने कहा कि घर में बह अकेले कमाने बाले थे और बहुत गरीब परिवार से निकल कर आए थे ऐसे में कर्मचारियों ने एक छोटी सी मदद कर परिवार को राहत पहुंचाने की कोशिश की है कांगड़ा जिला प्रधान राजिन्दर मन्हास ने कहा कि पिछले 8 दिन में हिमाचल में 13 कर्मचारियों का कोरोना की बजह से देहांत हो चुका है जिसमें अधिकतर कर्मचारी सेवा देते हुए कोरोना की चपेट में आएं उन्होंने कहा कि कोरोना को सरकार प्राकृतिक आपदा मानती है तो कोरोना के तहत होने बाली मौत को भी प्राकृतिक आपदा मानते हुए परिवार को 4 लाख की मुआवजा राशि परिवार को मिलनी चाहिए जिला प्रधान ने कहा कि केंद्र अपने एनपीएस कर्मचारियों को सेवा के दौरान मौत पर परिवार को परिवारिक पेंशन 2009 से दे रहा है